Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

जवान को छोड़ने के बाद ग्रामीणों को अगवा किया: बीजापुर में मितानिन मास्टर ट्रेनर सहित 3 महिलाओं का नक्सलियों ने अपहरण कर लिया; अफसर बोले- कन्फर्म कर रहे हैं

(*3*)

बीजापुर37 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

छत्तीसगढ़ के बीजापुर से तीन नक्सलियों ने तीन महिलाओं का अपहरण किया।

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में मितानिन ट्रेनर सहित 3 महिलाओं का नक्सलियों ने गुरुवार देर रात अपहरण कर लिया है। महिलाओं को बांधकर नक्सली अपने साथ ले गए हैं। सीएमएचओ ने मितानिन ट्रेनर को अगवा किए जाने की पुष्टि की है। वहीं बीजापुर के एसपी कमल लोचन कश्यप का कहा है कि उन्हें जानकारी मिली है। इस घटना को लेकर कन्फर्म कर रहे हैं।

मामला गंगालूर क्षेत्र के कमकानार का है। बताया जा रहा है कि देर रात करीब 1 बजे नक्सलियों ने तीनों महिलाओं का अपहरण किया है। नक्सली अपने साथ मितानिन मास्टर ट्रेनर शारदा के हाथ बांधकर ले गए हैं। वहीं, दोनों अन्य महिलाओं के नाम अभी सामने नहीं आ पाए हैं।

3 अप्रैल को अगवा हुए थे युवा राकेश्वर सिंह

3 अप्रैल को जोनागुड़ा में फोर्स और नक्सलियों की मुठभेड़ के बाद बंधक बनाए गए CRPF जवान राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने 8 अप्रैल को छोड़ दिया है। बताया जा रहा है कि राकेश्वर इस समय तरम में 168 वें बटालियन के कैंप में है। वहां उनका मेडिकल चेकअप किया जा रहा है। नक्सलियों ने कहा है कि राकेश्वर को घरवाले और घरवालों के साथ उनका एक फोटो हमें भेजा जाएगा। इस बीच गृह मंत्री अमित शाह ने फोन कर राकेश्वर सिंह से बात की है।

पुलिस ने समाजसेवियों की मदद ली थी

बस्तर रेंज के आईजी सुंदरराज पी। ने बयान जारी कर कहा कि युवा राकेश्वर सिंह की वापसी के लिए खोज अभियान के साथ-साथ इलाके के सामाजिक संगठन / जनप्रतिनिधि और पत्रकार सहयोगियों की भी मदद ली गई थी। इस दौरान सीपीआई माओवादी के दण्डकारण्य विशेष जोनल कमेटी के प्रवक्ता ने 6 अप्रैल को लापता जवान को बंधक बनाने की बात कही थी।

पद्मश्री धर्मपाल सैनी, माता रुक्मणी आश्रम जगदलपुर, गोंडवाना समन्वय समिति के अध्यक्ष तेलम बोरैया, पत्रकार गणेश मिश्रा और मुकेश चंद्राकर, राजा राठौर, शंकर के सहयोगी से अपराजित युवा की जानकारी मिली। उसी के प्रयास से उन्हें मुक्त कराया गया।

मुठभेड़ में 23 जवान शहीद हुए थे

ऑपरेशन के दौरान नक्सलियों के हमले में 23 युवा शहीद हुए थे। नक्सलियों ने भी अपने 5 साथी मारे जाने की बात मानी थी। मुठभेड़ के दौरान नक्सलियों ने सीआरपीएफ के कोबराांडो राकेश्वर का अपहरण कर लिया था। इसके बाद माओवादी प्रवक्ता विकल्प ने मंगलवार को राष्ट्रपति नोट जारी कर कहा था कि पहले सरकार बातचीत के लिए सलाहकारों का नाम घोषित करे, इसके बाद वह युवा को सौंप देंगे। तब तक वह सुरक्षित रहेगा।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: