Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

इसलिए प्रणाली में सुधार हो सकता है: भाजपा नेता शेफ सेक्रेटरी से बोले-केंद्र से कोई मदद नहीं करनी चाहिए, तो हमें बताएं, अस्पताल में बिस्तर नहीं मिल रहे, कालाबाजारी हो रही है, इसे रोकना चाहिए

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर13 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

काफी देर तक मुख्य सचिव की सभी बातों को सुनते रहे, आखिरी में उन्होंने अपनी तरफ से जरूरी कदम उठाने का समर्थन किया।

कोविद -19 के बढ़ते संकट के बीच सरकारी लचर व्यवस्था को दुरुस्त करने की मांग के बारे में भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता शुक्रवार को चीफ से सचिवरी से मिले। बंद कमरे में कुछ देर चली बात-चीत में विपक्ष के दिग्गजों ने प्रदेश में बिगड़ते हालात की ओर प्रदेश के सबसे बड़े प्रशासनिक अफसर का ध्यान केंद्रित किया। सांसद सुनील सोनी ने दैनिक भास्कर को इस मुलाकात के बारे में बताया हमनें उन्हें कहा कि यदि केंद्र से किसी तरह की सहायता की जरूरत है तो हमें बताएं, हम पूरा सहयोग करेंगे। मगर लोगों को यहां सुविधा तो मिली। राज्य को 230 वेंटीलेटर दिए गए, यह बताता है कि कैसे और कहां इस्तेमाल हुआ। नहीं हुआ है तो,, वेंटीलेटर ऐसी मुश्किल स्थिति में इस्तेमाल करने के लिए ही तो न हैं।

भाजपा नेताओं ने कहा कि पूरी तरह से अवैध राजनीतिक मुलाकात थी, हमारा मकसद लोगों तक जरूरी सुविधाएं पहुंचाना है।

भाजपा नेताओं ने कहा कि पूरी तरह से अवैध राजनीतिक मुलाकात थी, हमारा मकसद लोगों तक जरूरी सुविधाएं पहुंचाना है।

अस्पतालों में पास निर्धारण की मांग
भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधित्व मंडल में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक सांसद सुनील सोनी, पूर्व मंत्री व वरिष्ठ विधायक बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर शामिल थे। सभी ने कहा कि जो तैयारी पूर्व में थी, वह कहीं नहीं दिखती है। अस्पतालों मे बिस्तरों की समस्या है। वेटिलेंटर व ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी हो रही है। दवा मंहगे दर पर बेचे जाने की शिकायत लगातार मिल रही है। दो की बातों की कालाबाजारी हो रही है। इस पर ठोस कार्रवाई करें। पूरे प्रदेश में कोरोना के उपचार के नाम पर निजी अस्पतालों में भर्ती हो रही है, इसका एक निर्धारित दर तय की जानी चाहिए।

बिस्तर, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर सभी जानकारी लोगों को क्यों नहीं दे रही
दैनिक भास्कर से बात करते हुए सांसद सुनील सोनी ने बताया कि हमने चीफ सेक्रेट्ररी से पूछा कि आखिर क्यों वो बेड्स की जानकारी, वेंटीलेटर और ऑक्सीजन बेड की जानकारी नहीं दे रहे लोगों को। किसी भी अतिरिक्त डोमेन पर या हेल्पलाइन नंबर के जरिए ये सबकुछ लोगों को बताईए। आम आदमी परेशान रहता है इमरजेंसी की स्थिति में है। भाजपा के प्रबंधधी मंडल ने कोविड कैर सेंटर की संख्या बढ़ाने और लोगों को बिस्तर और अस्पताल की जानकारी देने पर जोर दिया।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: