Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

आदेश जारी: जिन शादियों को अनुमति है, वह नहीं रुकेंगीई-पास के लिए आज जारी नया नंबर होगा

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर3 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • लाकडाउन में सुबह-शाम पुलिस गसेट, उल्लंघन पर नोटिस की बजाय सीधा केस
  • राजधानी में नए कोविड कैर सेंटर तैयार, इन 2330 बिस्तर

राजधानी में लाकडाउन के दौरान इस बार सब्जी-मदिरा और आम लोगों के लिए पेट्रोल-डीजल जैसी सुविधा बंद की जा रही है, लेकिन प्रशासन ने साफ किया है कि शादी समारोह या अंतिम संस्कार के लिए जो भी कानूनी अनुमति होगी, उन्हें रोका नहीं जाएगा। । लेकिन दोनों ही बुकिंग में कुल 50 से ज्यादा लोगों को ही अनुमति रहेगी।

जिन्होंने पहले से अनुमति ले रखी है, वे लाकडाउन में भी अपने आयोजन कोरोना प्रोटोकाॅल के तहत कर सकते हैं। इसी तरह, प्रशासन दूसरे जिलों में जाने या वहाँ से आने के लिए कल गुरुवार को नई सूची जारी करेगा, जिसमें आवेदन कर ई-पास के लिए किया जाएगा। चूंकि आम लोगों की जरूरत की ज्यादातर चीजें 10 दिन बंद रहती हैं, इसलिए इस बार लाकडाउन सख्त किया जा रहा है। पुलिस की टुकड़ियां इस दफा गली-मोहल्लों में भी सुबह और शाम यानी दो बार गसेट लगाएगी। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ इस बार नोटिस न देकर सीधे एफआईआर किया जाएगा।

शादी और अंतिम संस्कार के लिए प्रशासन की अनुमति अनिवार्य होगी। शादी में वर-वधू दोनों पक्षों से केवल 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति होगी। इसके लिए ऑफलाइन आवेदन करना होगा। शादी समारोह में किसी भी तरह का सामूहिक भोज, बैंड-बाजा और डीजे प्रतिबंधित होगा। केवल विवाह की रस्में पूरी की जाएंगी। इसी तरह, दूसरे राज्यों से रायपुर आने वाले लोगों को ई-पास के लिए ऑनलाइन आवेदन अनिवार्य कर दिया गया है। इसकी सूची गुरुवार को जारी होगी, जिसे मोबाइल पर डाउनलोड किया जा सकता है। जिला प्रशासन की वेबसाइट पर भी यह सूची दी जाएगी। रायपुर से दूसरे राज्यों में जाने वाले लोग टिकट शो टर्मिनल, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड में जा सकेंगे। वहाँ से आने वाले यात्री भी अपने घरों में जा सकते हैं। रायपुर से दूसरे जिलों में जाने वाले लोगों को भी टिकट देने होंगे।

राजधानी में नए कोविड कैर सेंटर तैयार, इन 2330 बिस्तर
कलेक्टर डॉ। एस भारतीदासन ने बताया कि कोरोना रोगियों के इलाज के लिए 2330 बिस्तर वाले को विभाजित केंद्र तैयार कर लिए गए हैं। वर्किंग वूमन हॉस्टल फूंडहर में 270 बिस्तरों का केंद्र बन गया है, जिसमें 20 ऑक्सीजन वाले बिस्तर हैं। इसी तरह होटल प्रबंधन उपरवारा में 400, आयुष विवि रायपुर में 400, साइंस कॉलेज हीरापुर में 300, प्रयास विद्यालय गुढ़ियारी और सद्ददू में 300-300 और ईएसआई अस्पताल में 200 बिस्तर तैयार करने के लिए गए हैं। तीन दिन में इंडोर स्टेडियम में नया को विभाजित केंद्र तैयार कर लिया जाएगा। इसमें 260 बेड होंगे, जिसमें 50 ऑक्सीजन वाले बिस्तर होंगे। कलेक्टर ने बताया कि जिले के हर ब्लाक में 100-100 बिस्तर के अस्पताल तैयार किए जा रहे हैं। इसमें दो ब्लॉक में कोविड सेंटर तैयार हो गए हैं।

व्यापारियों ने राहत मांगी
लॉकडाउन के फैसले से पहले कलेक्टर ने छत्तीसगढ़ चैंबर, कैट, फकी सहित कई मार्कर संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। चैंबर के अध्यक्ष अमर पारवानी ने कई सुझाव भी दिए। कलेक्टर ने उन पर गंभीरता से काम करने का आश्वासन दिया। चैंबर के पूर्व चेयरमैन योगेश अग्रवाल, राजेश वासवानी, ललित जैसिंघ ने प्रशासन से मांग की है कि वे छोटे कारोबारियों को दुकानें खोलने की अनुमति दी। सब्जी, चीनी, फल आदि का व्यापार करने वाले छोटे कारोबारियों को कुछ घंटे की मोहलत दी जाए, ताकि वे आर्थिक परेशानियों से नंगे रहें। इससे आम लोगों को भी राहत मिलेगी क्योंकि सभी परिवार एक साथ 10 दिन का राशन स्टाक करें, यह संभव नहीं है।

वैक्सीनेशन-जांच पर असर नहीं
लॉकडाउन के दौरान अस्पताल, कोविड कैर सेंटर, वैक्सीनेशन और सैंपल जांच का काम जारी रहेगा। ये कामों पर किसी तरह की रोक-टोक नहीं रहेगी। को डिवाइड सेंटर से डिस्चार्ज होने वाले मरीज गाड़ियों से अपने घरों तक होगा। ऐसे मरीजों के लिए शासकीय गाड़ियां उपलब्ध रहेंगी।

कोविड -19 के टीकाकरण पंजीयन, कोरोना जांच और दूसरी मेडिकल जांच के लिए पैथालॉजी स्कूल का संचालन होता है। लोगों को आवश्यक दस्तावेज या आधार कार्ड टीकाकरण केंद्रों तक जाने के लिए लोग अपने निजी वाहनों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। बुजुर्गो के लिए सवारी गाड़ियां भी रहेंगी लेकिन जांच में उन्हें पहचान पत्र दिखाना होगा।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: