Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

भारत के इस लाल को लाखों सलाम: नक्सलियों ने फायरिंग की, बम बरसाए, साथियों को भी मारा; मगर लड़ते रहे संदीप, इनकी मुस्कान अब देशभर में वायरल हुई

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर29 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

तस्वीर रायपुर की है। CRPF के सेकंड इनैंड अफसर संदीप की ये तस्वीर जिसने देखी, सोशल मीडिया पर शेयर करने से खुद को रोक नहीं पाई।

  • सीआरपीएफ के विशेष लड़ाकू दस्ते कोबरा के सेकंड इनैंड अफसर हैं संदीप द्विवेदी
  • बीजापुर मुठभेड़ में 400 जवानों की टीम के साथ नक्सलियों का किया सामना, साथियों को बचाते हुए IED ब्लास्ट में घायल

हम शुक्रवार रातभर चलकर शनिवार सुबह लगभग 8 बजे बीजापुर और सुकमा जिले के बॉर्डर एरिया के जोनागुड़ा इलाके में पहुंचे। नक्सलियों का विलाप हमें दिखा, नक्सलियों ने हम पर फायरिंग कर दी। हमने भी उन्हें करारा जवाब दिया। हमारे लड़कों ने जबरदस्त हमुरी दिखाई, नक्सलियों हमें एंबुश में फंसाने की कोशिश की, लेकिन हमने उस घेरे को तोड़ा और आगे बढ़े। ये बातें मीडिया को जब संदीप द्विवेदी बता रहे थे, उनका दाहिना हाथ पट्टियों से लिपटा था और पैर में भी गंभीर चोटें आई थीं। चेहरे पर मुस्कान थी और जोश ऐसा कि मानों फिर से उठ कर चलेंगे घने जंगलों में नक्सलियों को जवाब देने का। बातचीत के दौरान वे बीच-बीच में मुस्कुराते भी रहे, इसी दौरान की एक फोटो किसी ने क्लिक की और सोशल मीडिया पर पोस्ट की जो अब वायरल है।

सीनियर आईपीएस आरके विज ने भी संदीप द्विवेदी से मुलाकात की।

सीनियर आईपीएस आरके विज ने भी संदीप द्विवेदी से मुलाकात की।

सहयोगियों को बचाते हुए विस्फोट की चपेट में आ गए
संदीप सीआरपीएफ के विशेष लड़ाकू दस्ते औरन्ज की फौज वाले कोबरा टीम के सेकंड इनंदर अफसर हैं। बीजापुर में बीते शनिवार को हुई मुठभेड़ में इन पर नक्सलियों ने गोलियां चलाईं। पहाड़ की उंचाई से बम बरसाए। संदीप अपने साथी जवानों को बचानेते हुए नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दे रहे थे। इतने में एक बम विस्फोट की चपेट में आकर वे घायल हो गए। रविवार को उन्हें एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर से रायपुर लाया गया। अब इनका इलाज एक प्राथमिक अस्पताल में जारी है।

गृह मंत्री अमित शाह जबंदर संदीप से मिले तो उनका हौसला बढ़ा।

गृह मंत्री अमित शाह जबंदर संदीप से मिले तो उनका हौसला बढ़ा।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- जल्दी ठीक हो जाओगेगा

गृह मंत्री अमित शाह सोमवार की शाम रायपुर के रामकृष्ण कैर अस्पताल आए। उन्होंने संदीप द्विवेदी से भी मुलाकात की। संदीप घायल अवस्था में बिस्तर पर थे, शाह के आते ही थोड़ा उठे और मुस्कुराकर कहा- हल्ली सर, शाह ने कहा- हिम्मत करो, बच जाओ तुम्हारा हाथ..पक्का बच जाएगा, कहाँ के हो? संदीप बोले- सर यूपी, फिर गृहमंत्री शाह ने कहा- डॉ को भरोसा है और मुझे भी कॉन्फिडेंस हैं, ठीक से आराम करो जल्दी ठीक हो जाओगे। संदीप ने मुस्कुराकर बोले- थैंक्यू सर।

हमारे मूवमेंट की जानकारी नक्सलियों को मिल रही थी
मीडिया से बातचीत में संदीप द्विवेदी ने बीजापुर में हुई नक्सल मुठभेड़ से जुड़ी अहमियत बताई। उन्होंने कहा कि जवानों के हर मौवमेंट की जानकारी गांव के लोगों और महिलाओं को नक्सलियों को दे रहे थे। इस कारण से नक्सलियों ने दूर पहाड़ी पर ऐसी पोजिशन पहले से ले रखी थी कि हम पर हमला कर सकें। हम भी जब जोनागुड़ा की तरफ जा रहे थे तो पता था कि कुछ हो सकता है। जब टीम वहां गई तो उनकी तरफ से बड़ी फायरिंग की गई।

नक्सलियों का प्लान और बड़ा था
संदीप ने आगे कहा कि हमारे लड़कों ने उनका घेरा तोड़ दिया। जवानों की साहसुरी के चलते ही हम एक महिला नक्सली का शव रिकवर करने में कामयाब रहे तो नक्सली डेड बॉडी ले जाने नहीं देते। इस मुठभेड़ के लिए नक्सली पूरी तैयारी में थे, हमें इनपुट मिल रहे थे कि उनके बड़ेन्दर को काफी समय से उस क्षेत्र में थे। वहाँ उनका प्लान बड़ा था। लेकिन हम कामयाब रहे उन्हें नाकाम करने में। हमारा थोड़ा लॉस हुआ, लेकिन काफी नक्सली भी मारे गए।

एसटीएफ के इस जवान के शरीर पर बम के टुकड़े लगे, घायल होने के बाद भी इन नक्सलियों को जवाब देता रहा।

एसटीएफ के इस जवान के शरीर पर बम के टुकड़े लगे, घायल होने के बाद भी इन नक्सलियों को जवाब देता रहा।

लगभग 5 घंटे होते हुए फायरिंग पर्वत से बम गिर रहे थे
अस्पताल में इलाज करवा रहे अंबिकापुर के एक जवान ने बताया कि वे विशेष टास्क फोर्स टीम का हिस्सा थे। जोनागुड़ा में नक्सली और लचर और बम पहाड़ी से हम पर फेंक रहे थे। लगातार गोलियां चल रही थीं और बम ब्लास्ट हो रहे थे। हमें पोजिशन के लिए जब ही नहीं मिला। करीब 150 मीटर दूर पहाड़ से फायर हो रहा था। हम जैसे तैसे गांव की तरफ बढ़े फायरिंग के बीच घायल जवानों का इलाज चल रहा था। हमें फिर से नक्सलियों ने घेर लिया। वहाँ भी हमने फायरिंग की। हमें पता था कि यहाँ मुठभेड़ होगी, लेकिन इतनी हैवी फायरिंग होगी ये नहीं पता था।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: