Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

नक्सली मुठभेड़: असम से लौटकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अफसरों की बैठक ली, घायल जवानों से मुलाकात की, कहा – वहां युद्ध हुआ है, यह नक्सलियों की आखिरी लड़ाई है

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर5 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

रायपुर लौटने के बाद मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपति से बात की। उन्होंने कहा, नक्सली अपने अस्तित्व की आखिरी लड़ाई लड़ रहे हैं। जल्दी ही उनका सफाया कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री सात दिन बाद असम से लौटे हैं।

  • ऑपरेशन में इंटलिजेंस फेलियर से इन्कार किया गया
  • कहा – पहली बार उनके गढ़ में घेरकर मारा गया है

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल असम से रायपुर लौट आये हैं। राजधानी लौटने वाले ही उन्होंने हवाई अड्ढडे के लाउंज में ही पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी, सीआरपीएफ के महानिदेशक कुलदीप सिंह और राज्य पुलिस में एंट नक्सल ऑपरेशन के महानिदेशक अशोक जुनेजा को मुठभेड़ की जानकारी ली। हवाई अड्ढ़ेडे से चीफ अस्पताल पहुंचे जहां उन्होंने मुठभेड़ में घायल जवानों से मुलाकात की। उन्होंने जवानों के निशान, मुठभेड़ की परिस्थिति के बारे में पूछा।

बाद में राष्ट्रपति से बात करते ^ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, बीजापुर में वहाँ मुठभेड़ नहीं युद्ध हुआ है। पांच घंटे तक आमने-सामने की लड़ाई। नक्सलियों ने रैकेट हंटर, हफ्तों ग्रेनेड, यूबीजीएल जैसे हथियारों का इस्तेमाल किया है। मुख्यमंत्री ने कहा, हमारे जवानों की शहादत हुई है, लेकिन हमारा कॉर्डिनेशन इतना बेहतर था, मुठभेड़ स्थल से सभी घायलों, शहीदों के शवों और हथियारों को ले आये हैं। उन्होंने कहा, इस ऑपरेशन में कहीं कोई चूक नहीं हुई है। यह किसी भी शिविर पर या लौटती हुई पुलिस पार्टी पर हमला नहीं हुआ है। हम उन्हें घेरने निकले थे। हम लगातार उस क्षेत्र में आगे जाकर कैंप स्थापित कर रहे हैं। उन्होंने कहा, हमारा ऑपरेशन रुकेगा नहीं। जवानों की शहादत नहीं जाएगी। हमारा ऑपरेशन चलेगा, कैंप हम स्थापित करेंगे, सड़क हम बनाएंगे। आम जनता को सुविधा होगी। उन्होंने कहा, नक्सलियों को घेर लिया गया है। अब वे अपने अस्तित्व की अंतिम लड़ाई लड़ रहे हैं। जल्दी ही उनका सफाया कर दिया जाएगा।

नक्सलियों को भारी नुकसान, चार चालों में ले गए हताहत

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, यह पहली बार है जब सुरक्षा बलों की सीधी मुठभेड़ नक्सलियों की संख्या -1 बटालियन में हुई है। हम उनके गढ़ में घुस गए हैं। उन्होंने दावा किया, इस हमले में नक्सलियों को भी भारी नुकसान हुआ है। अभी जो सूचनाएं आई हैं, उसके मुताबिक मुठभेड़ स्थल से शवों और घायलों को चार-पांच चालों से ले जाया गया है। सोचा जा सकता है कि कितना नुकसान हुआ है।

40 वर्ग किमी में सीमित हो गए हैं

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, हम उस क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ रहे हैं। हम सुकमा, दंतेवाड़ा, बीजापुर की ओर से बढ़ते जा रहे हैं। शिविर स्थापित कर रहे हैं; इसकी वजह से नक्सली 40 बाय 40 किलोमीटर के दायरे में सीमित हो गए हैं। जहां मुठभेड़ हुई है यह वह इलाका है जहां कैंप खुलने से माड़ क्षेत्र में नक्सलियों का मौवमेंट ब्लॉक हो जाएगा। नक्सली इसी से बौखलाए हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अस्पताल पहुंचकर घायल जवानों के स्वास्थ्य की जानकारी ली।  उनकी कुशलक्षेम पूछी।  इस दौरान राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, संसदीय सचिव विकास उपाध्याय और बस्तर सांसद दीपक बैज भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अस्पताल पहुंचकर घायल जवानों के स्वास्थ्य की जानकारी ली। उनकी कुशलक्षेम पूछी। इस दौरान राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल, संसदीय सचिव विकास उपाध्याय और बस्तर सांसद दीपक बैज भी मौजूद रहे।

जवानों की शहादत को नमन किया

मुख्यमंत्री ने कहा, हमारे जवानों की शहादत हुई है। मैं उन्हें नमन करता हूं। उनके परिवारों के प्रति भी सांत्वना देता हूं। लेकिन उनकी शहादत नहीं जाएगी। ऑपरेशन जारी रहेगा। केंद्रीय और राज्य के अधिकारी और युवा पूरी ताकत से यह लड़ाई लड़ रहे हैं। उनका हौसला बुलंद है। यह लड़ाई हम जरूर जीतेंगे।

कल जगदलपुर जाएंगे मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सोमवार को जगदलपुर जाएंगे। मुख्यमंत्री सुबह 8.30 बजे रायपुर पुलिस लाईन हेलीपैड से रवाना हुए। मुख्यमंत्री सुबह 10 बजे से पुलिस लाईन जगदलपुर में आयोजित शहीदों के श्रद्धांजलि कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके बाद वे शौर्य भवन में आयोजित बैठक करेंगे जिसमें मुठभेड़ के बाद के हालात की समीक्षा होगी। बैठक के बाद मां दंतेश्वरी टर्मिनल से 11.30 बजे हेलीकॉप्टर से रायपुर के लिए प्रस्थान करेंगे।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: