Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

एक साल बाद फिर बड़ा हमला: बीजापुर में सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ में 21 जवान लापता; 14 शहीद, 30 से ज्यादा घायल, 9 नक्सली भी मारे गए

  • हिंदी समाचार
  • (*21*)
  • (*14*)
  • छत्तीसगढ़ बीजापुर नक्सली हमला न्यूज़ टुडे अपडेट; 8 जवान शहीद, 30 घायल बीजापुर में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बीजापुरएक घंटा पहले

  • कॉपी लिस्ट

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सलियों से हुई मुठभेड़ में 14 जवान शहीद हो गए, जबकि 30 से ज्यादा घायल हुए हैं।

  • तरम क्षेत्र के सिलगर के जंगल में एक दिन पहले मुठभेड़ हुई थी, एक महिला नक्सली का शव बरामद हुआ था
  • CRPF, DRG, STF और कोबरा बटालियन के 2000 युवा निकले सर्चिंग पर थे, बैकअप फोर्स रवाना हुए

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शनिवार को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में 14 जवान शहीद हो गए हैं, हालांकि 20 जवानों के शहीद होने की अपुष्ट खबर आ रही है। इस मुठभेड़ में 30 से ज्यादा घायल हुए हैं। सबसे ज्यादा चिंता की बात यह है कि लगभग 21 से ज्यादा जवान लापता हैं। उनकी तलाश के लिए सुबह करीब 6 बजे बैकअप फोर्स को रवाना किया गया है। मुठभेड़ में 9 नक्सलियों के भी मारे जाने का दावा किया जा रहा है। इसमें एक महिला नक्सली का शव बरामद कर लिया गया है।

तरेम क्षेत्र के सिलगर के जंगल में जोनागुड़ा के पास नक्सलियों ने सीआरपीएफ की कोबरा, सीआरपीएफ बस्तरिया बटालियन, डीआरजी और एसटीएफ के जवानों को शनिवार दोपहर 12 बजे के करीब जोनागुड़ा के पास एक बड़े एंबुश में फंसा लिया। करीब तीन घंटे तक मुठभेड़ चली। सूचना मिली थी कि जोनागुड़ा इलाके के पहाड़ियों पर बड़ी संख्या में नक्सलियों ने डेरा जमाया हुआ है। इसके बाद लगभग 2000 जवानों को मौके पर तलाशी के लिए भेजा गया था।

शहीद जवानों की बस्त आईजी ने की पुष्टि, कहा- स्थिति स्पष्ट होने में समय लगेगा
बस्तर IG पी सुदंरराज ने शहीद जवानों की पुष्टि की है। उनके नाम अभी तक सार्वजनिक नहीं किए गए हैं। उन्होंने बताया कि अभी तक 9 नक्सलियों के मारे जाने की सूचना है, जबकि 15 से ज्यादा घायल हैं। स्थिति स्पष्ट करने में और समय लग सकता है। यह भी आशंका जताई जा रही है कि घटनास्थल पर 250 से ज्यादा नक्सली हो सकते हैं। इनका मूवमेंट अभी भी बना हुआ है। कुछ लापता जवानों के परिजन भी सामने आ गए।

नक्सली लीडर हिड़मा के गांव में हुई मुठभेड़
बताया जा रहा है कि जहां मुठभेड़ हुई है वह इलाका ज़रम हमले के मास्टरमाइंड हिड़मा का गांव है। हमला करने वाले नक्सली उसी की पीएलजीए टीम के सदस्य थे। काफी लंबे समय से गांव में नक्सलियों का जमावड़ा लग रहा था। इसकी सूचना पर बीजापुर के तर्रेम से 760, उसूर से 200, पालने से 195, सुकमा के मिनपा से 483 और नरसापुरम से 420 युवा प्रस्थान किए गए थे। जवानों की तलाश में चॉपर और यूएवी को भी भेजा गया है।

एक साल में फिर बड़ा हमला, सुकमा में 17 जवान हुए
लगभग एक साल पहले 21 मार्च को नक्सलियों ने ऐसा ही हमला सुकमा में भी किया था। इसमें 17 जवान शहीद हो गए थे। सुकमा जिले के चिंतागुफा इलाके में DRG और STF जवान सर्चिंग पर थे। एलमगुंडा के आसपास नक्सलियों के मौजूद होने की सूचना मिली थी। कोरजागुड़ा पहाड़ी के पास छिपे नक्सलियों ने चारों ओर से जवानों की गेंदों की बौछार कर दी। जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की, जिसके बाद नक्सली जंगल के अंदर भाग निकले थे।

प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री शाह ने भी शहीदों को दी श्रद्धांजलि

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: