Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

दो जिलों में आंशिक लॉकडाउन: राजनांदगांव में अब सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक खुलने वाली दुकानें; धमतरी में 12 घंटे के लिए सब बंद रहेगा

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • (*12*)
  • छत्तीसगढ़ लॉकडाउन | छत्तीसगढ़ जिले में बेमेतरा और दुर्ग के बाद राजनांदगांव में तालाबंदी के कारण कोरोनोवायरस में उछाल आया

(*4*)

राजनांदगांव / धमतरी / कोरबा28 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

यह तस्वीर छत्तीसगढ़ के धमतरी के नाइट कर्फ्यू के दौरान की है। सड़कों पर सन्नाटा है, इसके बाद भी लोग दिखाई दे रहे हैं। अब प्रशासन ने इसे 12 घंटे का बंद कर दिया है।

  • कोरोना संक्रमण के कारण जिला प्रशासन ने निर्णय लिया, राजनांदगांव में फैक्ट्रियों को छूट दी गई
  • धमतरी में 5 अप्रैल और राजनांदगांव में 4 अप्रैल से लागू होगा

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण का चार्टररा बढ़ने के साथ सख्ती भी बढ़नी शुरू हो गई है। दुर्ग और बेमेतरा के बाद अब राजनांदगांव में भी लॉकडाउन कर दिया गया है। हालांकि यह आंशिक रूप से है। दुकानों को सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है। हालांकि फैक्ट्री और औद्योगिक अनुप्रयोगों से बाहर रहेगा। वहीं धमतरी में नाइट कर्फ्यू को 8 घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे का कर दिया गया है।

राजनांदगांव: दूध-दुरों को 2 घंटे की अतिरिक्त छूट मिलेगी
जिले में पहले से नाइट कर्फ्यू जारी है। रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक बंद करने के आदेश थे। अब इसका समय 5 घंटे और बढ़ा दिया गया है। इसके तहत अब दुकानें सुबह 6 बजे से शाम 4 बजे तक ही खुलेंगी। हालांकि दुग्ध करने वालों को शाम 6 से 8 बजे तक अतिरिक्त छूट दी गई है। आपातकालीन सेवा इस बंद से बाहर रहती है। जिला प्रशासन ने बताया कि कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए आगे निर्णय लिया जाएगा। आदेश 4 अप्रैल से प्रभावी होगा।

धमतरी: ढाबे शाम 6 से रात 10 बजे तक खुल जाएगा, लेकिन बिठाने की अनुमति नहीं
वहीं धमतरी में जिला प्रशासन ने 5 अप्रैल से 12 घंटे का लॉकडाउन कर दिया है। आदेश में कहा गया है कि जिले की सभी व्यावसायिक संस्थाओं शाम 6 से सुबह 6 बजे तक बंद रहेगी। इस दौरान आवश्यक सेवाएं प्रतिबंध से मुक्त रहेंगी। वर्तमान में आदेश 13 अप्रैल की सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा। जिले की सभी ढाबे और भोजनालय शाम 6 से रात 10 बजे तक खुलेंगे। इस दौरान केवल पार्सल की अनुमति रहेगी। इसमें ठेला वाले शामिल नहीं हैं।

कोरबा में बैंड-बाजा और कैटरिंग व्यवसाय से जुड़े लोगों ने प्रदर्शन किया।  यह सभी धारा -144 का विरोध कर रहे हैं।

कोरबा में बैंड-बाजा और कैटरिंग व्यवसाय से जुड़े लोगों ने प्रदर्शन किया। यह सभी धारा -144 का विरोध कर रहे हैं।

कोरबा: धारा -144 के विरोध में बैंड-बाजा और कैटरिंग वालों का प्रदर्शन
दूसरी ओर कोरबा में धारा -144 के विरोध में शनिवार को बंद-बाजा और कैटरिंग व्यवसाय से जुड़े लोगों ने प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि धारा -144 लागू होने के बाद से उनका व्यवसाय ठप हो गया है। व्यवसाय से जुड़े सभी लोग बड़ी संख्या में कलेक्ट्रेट के बाहर एकत्र हो गए और घेराव करते हुए प्रदर्शन करने लगे। इसके बाद परिवार सहित सड़क पर चक्का जाम कर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। सहयोग नहीं करने पर आत्मदाह की चेतावनी दी है।

तीनों जिलों में कोरोना की स्थित

जिला सक्रिय मामला कुलचे मृत्यु ठीक है
राजनांदगांव 2203 23016 202 20611 है
धतारी 670 है 9353 है 144 8539 है
कोरबा 599 है 108066 137 17330

खबरें और भी हैं …

(*6*)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: