Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

विवाद और बवाल: पुरानी रंजिश पर दो गुटों में सिर फुटौव्वल साम्प्रदायिक रंग बिगाड़ा माहौल देकर

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायगढ़3 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

28 मार्च की रात से अब तक पुलिस चांदनी चौक इलाके में कर रही है निगरानी।

  • उपद्रवियों ने डाला होली के रंग में भंग, जिले के थानों में झूठ, मारपीट की 37 से अधिक शिकायतें

होलिका दहन की देर रात चांदनी चौक में दो गुटों में खूनी झड़प हुई। तोपों से लैस दो गुटों ने एक दूसरे पर हमला कर दिया। मामले में दोनों पक्षों की ओर से एफआईआर दर्ज कराई गई है। त्योहारों के बीच में इस झगड़े को बदमाशों ने साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश भी की। रंग दिए जाने के कारण अब भी इलाके में दहशत का माहौल है। पुलिस वारदात के बाद से यहां नजर रखे हुए हैं।

28 मार्च की रात चांदनी चौक में दो पक्ष आपस में भिड़ गए। लाडले खान और रमेश सारथी के लोगों ने एक दूसरे पर हमला बोल दिया। यहाँ रातभर तनाव का माहौल बना रहा। प्रशासन और पुलिस के अफसर मौके पर पहुंचे और लगभग कर्फ्यू जैसी कड़क बरती। दूसरे दिन रंगोत्सव भी पुलिस की मौजूदगी में ही मनाया गया। इस झगड़े के बाद विवाद इतना गहराया कि दो दिन तक तीन जगहों पर झड़प हो चुकी है। होलिका दहन और होली के बीच दो दिन में ही जिले में 37 मामले थाने तक पहुंचे हैं।

पुरानी रंजिश पर दो गुटों में सिर फुटौव्वल साम्प्रदायिक रंग बिगाड़ा माहौल द्वारा

पहले डंडा, बंदूक, तलवार से मचाई दहशत, फिर पीड़ित बनकर पहुंचे थाने में नाहिद अख्तर- चांदनी चौक, फारुखी गली के नाहिद अख्तर ने पुलिस को बताया कि, 28-29 मार्च की रात 2-30 बजे के करीब कुछ लोग नमाज पढ़ रहे हैं। लौट रहे थे। केवल चांदनी चौक में भीड़ देखी गई। यहां नाहिद के मामा लाडले खान से मोनू सारथी, मोंटी सारथी, सचिन सारथी, बबलू सारथी मारपीट कर रहे थे। बीच-बचाव करने पहुंचा तो लोगों ने नाहिद के साथ भी मारपीट की। पुलिस ने आरोपी पक्ष पर 294, 323, 506, 34 के तहत मामला दर्ज कर लिया।

रमेश सारथी- फारुखी गली के ही रमेश सारथी ने बताया कि, होली की सुबह 3.30 बजे पुरानी रंजिश को लेकर लाडले खान, बिट्टू खान और उसके सहयोगियों ने रमेश के भाई रामा सारथी, गोलू कैथी, दीनबंधु सारथी, महावीर सारथी से गाली गलौज की गई। और जान से मारने की सजा दी। आरोपियों ने लोहे की राड और तलवार से हमला किया। मारपीट भी की।

दो साल पुराना विवाद है

दोनों पक्षों के बीच पहले भी कई बार विवाद हो चुका है। दो साल पहले रामनवमी की रैली के स्वागत के दौरान 30 मार्च 2019 की रात भी दो पक्षों के बीच झड़प हुआ था। इस दौरान दो गुट आपस में भिड़े थे। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 147,148,149, 307, 294, 323, 341, 506 और आर्म्स एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया था। इसके बारे में ही गुटों के बीच फिर तनाव और झगड़ा हुआ।

पुलिस पेट्रोलिंग करती रही इधर झगड़े भी होते रहे

पुलिसिंग होली के लिए लगातार मोहल्लों में पेट्रोलिंग करती रही। जिले में सबसे ज्यादा मारपीट की घटनाएं दर्ज की गई है। जिले में कुल 37 घटनाएं दर्ज की गईं। कोतवाली क्षेत्र में सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। ढिमरापुर, जूट मिल और चांदनी चौक में भी जमकर बवाल हुआ। इन स्थानों पर होली में दो दिनों तक लोगों ने उपद्रव हुआ। कुछ मामलों में पुलिस बाद में 307 या गंभीर अपराध की धारा भी जोड़ सकती है। पुलिस के अनुसार वह शांति व्यवस्था बनाने में लगी थी।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: