Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

पहली लहर से अधिक घातक हुआ वायरस: छत्तीसगढ़ में सामने आये कोरोना के 4563 नए रोगी, महामारी की पिछली पीक में भी नहीं मिले थे

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • एक दिन में अब तक की सबसे अधिक संख्या 3896 थी
  • 26 सितंबर 2020 को मिले थे 3896 कोरोना क्षमता

छत्तीसगढ़ में कोरोना की दूसरी लहर अपनी पहली लहर से भी अधिक घातक हो चुकी है। प्रदेश में संक्रमण का जोर इतना अधिक है कि बुधवार को एक दिन में 4 हजार 563 नए मरीज मिले हैं। इट प्रदेश में महामारी की आधिकारिक एंट्री के बाद से एक दिन में मरीजों के मिलने की सर्वाधिक संख्या है।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के आंकड़ों के मुताबिक बीते एक साल में 26 सितंबर 2020 को एक साथ सबसे ज्यादा 3 हजार 896 मरीज मिले थे। उसके बाद से यह आंकड़ा घटने लगा था। मार्च 2021 की शुरुआत में यह एक दिन में 144 मरीज तक पहुंच गया था। लेकिन बीते तीन सप्ताह की लापरवाहियों ने प्रदेश को महामारी की मुह में ढकेल दिया है। 27 मार्च को प्रदेश में 3 हजार 162 मरीज मिले। 30 मार्च को यह संख्या थोड़ी घटकर 3 हजार 108 तक पहुंच गई। उसके ठीक 24 घंटे बाद का आंकड़ा सभी पिछले रिकॉर्ड तोड़ चुका है।

बुधवार को सामने आये नए रोगियों में से अकेले रायपुर के ही 1291 लोग हैं। इनको मिलाकर रायपुर में सक्रिय मरीजों की संख्या 6469 हो गई है। रायपुर में अभी तक 65 हजार 672 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। सर्वाधिक प्रभावित जिलों में से एक दुर्ग में बुधवार को 1199 मरीज मिले। यहां अब 9 हजार 55 मरीज सक्रिय हैं। संक्रमण की चपेट में आ गए लोगों की संख्या 39 हजार 72 हो गई है। राजनांदगांव में 400, बिलासपुर में 224, बेमेतरा में 141, धमतरी में 130, महासमुंद में 129, बालोद में 119 और बलौदा बाजार जिले में 101 नए रोगी मिले हैं।

एक दिन में 28 मरीजों की मौत, सबसे ज्यादा रायपुर में

मंगलवार की रात से बुधवार की रात तक 24 घंटे में प्रदेश भर में कोरोना के 28 रोगियों की मौत हुई है। मरने वालों में सबसे ज्यादा 9 लोग रायपुर के ही हैं। रायपुर के अशोक नगर, श्याम नगर, कृष्णा नगर, मोवा, गायत्री नगर, टिकरापारा, श्रीनगर रोड और बुढ़ापारा इलाके के 9 लोगों की मौत हुई है। दुर्ग जिले में 7 लोगों की मौत हुई है। ये लोग दुर्ग, भिलाई के वार्ड 28, भिलाई के संतोषी पारा, भिलाई के एलियासी कॉलोनी, दुर्ग के बजरंग मंदिर, गनियारी गांव और चरोदा के निवासी थे। धमतरी के चार महासमुंद के तीन रोगियों की मौत भी इलाज के दौरान हुई है।

अब तक 3.49 लाख से 4170 की मौत

छत्तीसगढ़ में कोविद -19 का पहला मरीज 18 मार्च 2020 को सामने आया। यह एक लड़की थी तो लंदन से रायपुर लौटी थी। तबसे यह वायरस 3 लाख 49 हजार 187 लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। इनमें से 3 लाख 19 हजार 488 लोग ठीक हो चुके हैं। लेकिन 4 हजार 170 लोगों को इस बीमारी की वजह से जान गंवानी पड़ी है। छत्तीसगढ़ में मरीजों की मौत की दर अभी भी बड़ी चुनौती बनी हुई है। बुधवार को यह 28 की मौत हुई। मंगलवार को 29 लोगों की जान गई थी।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: