Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

जंगल जल रहे हैं, अफसर बेखबर हैं: कई दिनों से जल रहे हैं लोरमी के जंगह, दूर गांवों से दिखाई दे रही लपटें, लेकिन अफसर बोले- आग लगने की कोई सूचना नहीं

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंगेली5 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

छत्तीसगढ़ के लोरमी में कई दिनों से जंगल जल रहे हैं, लेकिन अफसर बेखबर बने हुए हैं। उनका कहना है कि आग उनके क्षेत्र में नहीं लगी है।

  • ग्राम कोसबैरी, कंचनपुर, परसवारा और भरतपुर के जंगलों में आग लगी है
  • एटीआर प्रबंधन और वन विभाग दोनों ने अपना क्षेत्र नहीं कहाकर झाड़ा पल्ला
  • मृत्युदर-बेलगहना के जंगल भी सुलग रहे हैं, लेकिन वहां भी विभाग बना है बेखबर

छत्तीसगढ़ में लोरमी के जंगलों में कई दिनों से आग लगी है। अब तो उसके लपटें दूर गांव में आबादी क्षेत्र से भी दिखाई देने लगी है, लेकिन अफसर कहते हैं कि उन्हें आग लगने की कोई सूचना नहीं है। अचानकमार टाइगर रिजर्व (एटीआर) और वन विभाग दोनों के अपने क्षेत्र में होने की बात कहकर पल्ला झाड़ रहे हैं। मृत्युदर और बेलगहना के भी जंगल सुलग रहे हैं और सूचना देने के बाद भी अफसर बेखबर हैं।

अचानकमार टाइगर रिजर्व (एटीआर) और वन विभाग दोनों अपने क्षेत्र में आग नहीं होने की बात कहकर पल्ला झाड़ रहे हैं।

अचानकमार टाइगर रिजर्व (एटीआर) और वन विभाग दोनों अपने क्षेत्र में आग नहीं होने की बात कहकर पल्ला झाड़ रहे हैं।

लोरमी क्षेत्र के ग्राम भरतपुर, परसवारा, कोसाबाड़ी सहित कंचनपुर के आसपास इलाको में भीषण आग लग गई है। इसके कारण जंगल के पेड़-पौधे ही जलकर राख नहीं हो रहे हैं, बल्कि वन्य जीवों का भी जीवन संकट में आ गया है। स्थानीय लोगों के अनुसार, यह आग कई दिनों से शुरू हुई है। इसकी सूचना भी उन्होंने दी है, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। एटीआर प्रबंधन आग लगने की सूचना चैनलों से नहीं मिलने की बात कहता है।

आरोपों-प्रत्यारोपों में और सुलग रही है जंगल की आग
दूसरी ओर वन विभाग के अफसर कहते हैं कि आग उनके एरिये में नहीं है। वह एटीआर में होने की बात करते हैं, लेकिन इस बढ़ती आग पर काबू कौन पाएगा, इसका जवाब किसी के पास नहीं है। वहीं भाजपा प्रमुखों का कहना है कि भरतपुर और कंचनपुर के जंगल में तेजी से आग फैल रही है। वह आरोप लगाते हैं कि वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी अपनी करतूतों को छिपाने के लिए आग बुझाने में कोई तत्परता नहीं करते।)

सबके अपने-अपने दावे

भरतपुर और कंचनपुर के जंगल में तेजी से आगे फैल रही है। वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी अपनी करतूत छिपाने के लिए आग बुझाने के लिए तत्परता नहीं दिखाते हैं। जब तक जब तक लकड़ी का मोटा ठूंठ ना जल जाए, तब तक किसी का ध्यान जंगल में नहीं जाएगा। वन कर्मचारी अपने नाका में लगाए गए कपड़े सोए रहते हैं।
– सुशील यादव, भाजपा महामंत्री, लोरमी

आग की जानकारी नहीं है हमारे क्षेत्र में आग नहीं लगी है। अमरकंटक क्षेत्र में शुरू हुआ हो सकता है। हमारे क्षेत्र में आग लगी होती है तो रेस्तरां से इसकी जानकारी मिल जाती है।
– सत्यदेव शर्मा, डीएफओ, एटीआर

आग लगने की कोई सूचना नहीं है। पता करवाते हैं, तो हमारे अधिकारी क्षेत्र में नहीं शुरू किया जाएगा। कांग्रेस एटीआर परिक्षेत्र में होगी।
– निखिल पैकरा, रेजर, वन विभाग, लोरमी

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: