Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

अब 45 साल से ज्यादा के सभी को वैक्सीन: किसी मेडिकल सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं, 1 अप्रैल से शुरू होगा टीकाकरण; छत्तीसगढ़ में ऐसे 58 लाख से अधिक लोग

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर14 घंटे पहले

छत्तीसगढ़ में अभी तक 18 लाख से अधिक वैक्सीन डोज लग चुके हैं। सरकार अभी तक एक लाख व्यक्ति प्रतिदिन का लक्ष्य लेकर चल रही थी। अब यह लक्ष्य बढ़ाना होगा।

  • केंद्र सरकार के निर्देश के बाद स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया आदेश
  • बढ़ानी मधुमक्खीकरण केंद्रों की संख्या, स्वास्थ्य विभाग की तैयारी तेज

अगले महीने से कोरोनाकैज़ेशन का दोरा बढ़ेगा। एक अप्रैल से 45 वर्ष और उससे अधिक उम्र के सभी लोगों को यह टीका लगाया जाना है। केंद्र सरकार के निर्देश के बाद स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने इसके आदेश जारी कर दिए। इस दायरे में छत्तीसगढ़ के करीब 58 लाख 66 हजार 600 लोग आ रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्रीय मंत्रिपरिषद ने 23 मार्च की बैठक में 45 साल या उससे अधिक उम्र वाले सभी लोगों को कोरोना का टीका लगाये जाने का फैसला किया था। उसके बाद से ही प्रदेश में इसकी विस्तृत गाइडलाइन का इंतजार था। पिछले दिनों केंद्र सरकार ने टीकाकरण की गाइडलाइन के साथ जिलों का पूर्वानुमान हासिल करने के लिए स्वास्थ्य विभाग को भेज दिया। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव रेणु जी। पिल्ले ने सभी कलेक्टरों के नाम टीकाकरण का आदेश जारी किया है। इसके अनुसार एक अप्रैल से 45 वर्ष या उससे अधिक के सभी व्यक्तियों को टीका लगाया जाना है। इसके लिए उन्हें किसी भी तरह का मेडिकल प्रमाणपत्र दिखाने की जरूरत नहीं है। टीकाकरण केंद्रों पर केवल फोटोयुक्त पहचान पत्र दिखाना होगा। उसके बाद टीकाकरण हो जाएगा।

बताया गया है कि जिलों में जनसंख्या का 20 प्रतिशत भाग 45 वर्ष या उससे अधिक का माना जा रहा है। ऐसे में छत्तीसगढ़ में इस श्रेणी में आने वालों की संख्या 58.66 लाख होगी। अकेले रायपुर में यह संख्या 5 लाख 51 हजार 364 है। इस आदेश के साथ ही स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन टीकाकरण की तैयारियों में लग गया है। प्रदेश स्तरीय बैठक में टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाने पर चर्चा जारी है। जिलों से समन्वय कर आज शाम तक टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाने का आदेश जारी हो सकता है। अभी तक 1900 से 2000 केंद्रों पर टीकाकरण हो रहा था। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, अब हमने प्रतिदिन 2 लाख व्यक्तियों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा है जिसमें हम आने वाले दिनों में कम से कम 2 लाख लोगों का वैक्सीनेशन हो सके यह व्यवस्था विभाग द्वारा बनाई जा रही है। उन्होंने कहा, विभाग ने पिछले दिनों एक लाख वैक्सीनेशन रोज का लक्ष्य तय किया था। 27 मार्च को हमने एक लाख 14 हजार से अधिक टीके लगाये। आगे भी तय लक्ष्य हासिल किया जाएगा।

अभी तक 18 लाख वैक्सीन डोज का उपयोग किया जाता है

छत्तीसगढ़ में कोरोनाकेनीकरण की शुरुआत 16 जनवरी से स्वास्थ्य कर्मियों के वैक्सीनेशन से हुई थी। अगले महीने इसमें एयरलाइन वर्कर्स को भी शामिल कर लिया गया। इस श्रेणी में पुलिस, राजस्व कर्मी और नगरीय निकायों के कर्मचारी शामिल हैं। एक मार्च से 60 साल और उससे अधिक के बुजुर्गों और 45 साल से अधिक के बीमार व्यक्तियों को केक लगना शुरू हुआ था।

अभी तक 45 साल वालों को मेडिकल सर्टिफिकेट देना पड़ रहा था

एक मार्च से शुरू से टीकाकरण के लिए केंद्र सरकार ने 20 बीमारियों की एक सूची जारी की थी। इन बीमारियों से पीड़ित 45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को कोरोना का टीका लग रहा था। इसके लिए संबंधित व्यक्ति को किसी डॉक्टर से जारी प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होता था कि वह सूची में दी गई किसी बीमारी से पीड़ित है।

कर्मचारी संगठनों ने सभी कोक लगाने की मांग की

इधर महानदी भवन के कर्मचारियों ने सभी आयु वर्ग के मंत्रालयीन कर्मियों को कोरोना का केक लगाने की मांग की है। छत्तीसगढ़ मंत्रालय शीघ्रलेखक संघ के अध्यक्ष देवलाल भारती ने कहा, उन लोगों ने मुख्य सचिव अमिताभ जैन को पत्र लिखकर अपनी मांग से अवगत करा दिया है।

उन्होंने कहा, महानदी भवन मंत्रालय के गेट नंबर चार के बाहर जो सेनिटाईजर लगाया गया था उसे भी चार दिन पहले ही हटा लिया गया।]इसकी जगह पर फिर से आटोमेटिक सेनेटाईजर मशीन स्थापित की जाए। इसके साथ ही मंत्रालय के लगभग दो हजार कर्मचारियों-अधिकारियों को वैक्सीन लगाने के लिए महानदी भवन के अस्पताल में ही शिविर लगाने की मांग की जाती है।

रायपुर जिले के इन सरकारी अस्पतालों में लग रहा है टीका

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), मेडिकल कॉलेज, सामुदायिक भवन, पुलिस लाइन ग्राउंड, पुलिस प्रशिक्षण केंद्र माना, शहीद स्मारक भवन, आयुर्वेदिक कॉलेज, जिला चिकित्सालय पंडरी, सिविल अस्पताल माना, रेलवे डिवीजन अस्पताल, श्री भोला कुमारी धर्मशाला, हमर अस्पताल गुढ़ियारी , हमर स्वास्थ्य केंद्र भाठागांव, सियान सदन गुढ़ियारी, आश्रय स्थल मोवा, मित्तन भवन भानुपुरी, संत रविदास भवन काशीराम नगर, स्वास्थ्य सेवा वेलनेस सेंटर बहेसर, 10 बिस्तर अस्पताल शरदावती भवन नया रायपुर, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र परोपरा, डी.डी. नगर, मथपुरैना, राजातालाब, कहाना, आमसिवनी, देवपुरी, लाभांडी, खसप्रीत, परसदा, उरला, बोरियाकला, हीरापुर, चंगोराभाठा। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, अभनपुर, गोबरा नवापारा, तिल्दा, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आरंग, राखी, बीरगाँव, खरोरा, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र उपरवारा, ब्लोरा, तोरला, मानिकचौरी, खोरपा, चंपारण, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डसीडंवा, दोंदेकला, मांढेर, सिलतरा, सिलतरा रेवा, कुरुद, कुटेला, चंदखुरी, मंदिर हसौद, फरफौद, बंगोली, गोगांव, श्री भोला कुर्मी धर्मशाला रामनगर।

(ये सरकारी अस्पतालों में टीकाकरण पूरी तरह से नि: शुल्क है)

रायपुर जिले के इन निजी अस्पतालों में भी टीकाकरण की सुविधा है

एम.एम.आई. नारायण हॉस्पिटल, छत्तीसगढ़ डेंटलटिक्स मल्टी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, अऋग्य हॉस्पिटल, यशोदा चिल्ड्रेन हॉस्पिटल, कान्हा चिल्ड्रेन हॉस्पिटल, वरदान हॉस्पिटल, कालडा बर्न प्लास्टिक सर्जरी सेंटर, श्री माँ शारदा आरोग्यधम हॉस्पिटल, बालको मेडिकल सेंटर, लालमती मल्टी स्पेशलिटी एचडीसी , श्री हरिकिशन हॉस्पिटल, देवी लक्ष्मी हॉस्पिटल, अस्था विनायक मैटरनिटी सेंटर, विद्या हॉस्पिटल स्पेशलिटी, निरोगीम हॉस्पिटल, श्रेयांस हॉस्पिटलिक्स रिसर्च सेंटर, श्री बालाजी मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल, सुयश इंस्ट्टीयूट ऑफ मेडिकल साईस, स्वास्तिक नर्सिंग, वी कैर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, उर्मिला मेमोरियल हॉस्पिटल, श्री दानी कैर हॉस्पिटल, एकता इंस्टिट्यूट ऑफ चाईल्ड हेल्थ, रामकृष्ण कैर हॉस्पिटल , छत्तीसगढ़ मेडिकल रिसर्च सेंटर, श्री साई पैकरा हॉस्पिटल, मेघ पोलीक्लीनिक, अग्रसेन हॉस्पिटल, कंवर नर्सिंग होम, एनकेडी हॉस्पिटल मैटरनिटी सेंटर, सोनी मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल, संततिदास आई हॉस्पिटल, शाह नर्सिंग होम, सर्व ट्रामा हॉस्पिटल, ओम हॉस्पिटल, उपाध्याय हॉस्पिटल, श्री राम हॉस्पिटल, अग्रवाल हॉस्पिटल, अरिहंत हॉस्पिटल, आयुष मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल, छत्तीसगढ़ हॉस्पिटल मेडिकल रिसर्च सेंटर, माता शारदा नर्सिंग होम, मित्तल इंस्टीच्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, श्री नारायण हॉस्पिटल, श्री अनंत साई हॉस्पिटल, श्री मेडिसाईन हॉस्पिटल, श्री संकल्प मेडिकल रिसर्च रिसर्च इंस्टीस्चुत, वी वाय इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस

(कुछ अस्पतालों में टीकाकरण के लिए 250 रुपये शुल्क निर्धारित किया गया है)

(*1*)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: