Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

जब आपकी सरकार तो डर काहे का: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने तोड़ा प्रोटोकाॅल, जिस कलेक्टर ने 3 दिन पहले धारा -144 लागू की वे भी भीड़ में शामिल, बीजापुर को उप तहसील बनाने का कार्यक्रम था

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर32 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

चित्र कोंडागांव की है। कलेक्टर भी इस कार्यक्रम में मौजूद थे। कई लोगों ने यहां पर से ठीक पहने थे।

  • कोंडागांव जिले के बीजापुर गांव की घटना, सभी सार्वजनिक कार्यक्रम रद्द किए जा चुके थे फिर भी बुलाई गई सभा
  • छत्तीसगढ़ कांग्रेस के अध्यक्ष मोहन मरकड़े कोंडागांव से विधायक भी हैं, विपक्ष ने कहा- यही लोग को डेंजर जोन में धकेलेंगे

कोंडागांव के कलेक्टर पुष्पेंद्र मीणा ने 24 मार्च को जिले में धारा 144 लागू की। सरकारी आदेश में साफ कहा गया कि सभी प्रकार के व्यक्तिगत, धार्मिक, राजनीतिक, खेल-कूद से जुड़े कार्यक्रम पूरी तरह से बैन रहेंगे। 27 मार्च को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और कोंडागांव के विधायक पहुंच गए बीजापुर गांव में उप तहसील कार्यालय का उद्घाटन कर रहे हैं। जिले में एक साथ 5 से ज्यादा लोगों को खड़े होने की इजाजत नहीं है। मगर शनिवार को इस गांव में दिनभर सभा होती रहती है। हद तो ये हो गई कि प्रतिबंधात्मक आदेश जारी करने वाले कलेक्टर खुद ही इस कार्यक्रम में मेहमान बनकर पहुंचे हुए थे।

(*3*)

सभा में सिर्फ मोहन मरद ही नहीं बल्कि अफसरों ने भी जनता से बात की और सरकार की उपलब्धियां गिनवाईं।

ये कार्यक्रम था
उप तहसील के उद्घाटन को लेकर जिला प्रशासन ने जो जानकारी दी उसके मुताबिक 28 हजार से अधिक जनसंख्या वाले इस नव उप तहसील में 21 ग्राम पंचायत और 37 आश्रित गांव शामिल हैं। इसके अंतर्गत दो राजस्व निरीक्षक प्रभाग बीजापुर और हीरापुर शामिल रहेंगे। ये अफसर 9 हल्कों का जिम्मा संभालेंगे। बीजापुर को उप तहसील बनाने की घोषणा 27 जनवरी को कोंगरा में आयोजित आमसभा में राज्य के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा की गयी थी। कार्यक्रम में कोण्डागांव विधायक मोहन मरद के अलावा जिला पंचायत अध्यक्ष देवचंद मातलाम, जनपद अध्यक्ष माकड़ी मोतीबाई नेताम, जनपद अध्यक्ष कोण्डागांव शिवलाल मंडावी और बड़ी तादाद – गांव के लोग मौजूद थे।

यह आलत तब है जब कोंडागांव जिले में 5 से ज्यादा लोगों को जमा होने की इजाजत नहीं।

यह आलत तब है जब कोंडागांव जिले में 5 से ज्यादा लोगों को जमा होने की इजाजत नहीं।

यही लोग हमें डेंजर जोन में धकेलेंगे
जिला प्रशासन और कांग्रेसी नेताओं के इस गैर जिम्मेदाराना हरकत पर सवाल उठाते प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष और पूर्व मंत्री लता थेंडी ने कहा कि आने वाले समय मे यही कांग्रेसी नेता राज्य को फिर से महामारी के डेंजर जोन में धकेल देंगे। एक तरफ प्रदेश के आम नागरिक जो दो जून की रोटी की जुगत मे न जाने कितनी दूर तक सहते हैं। क्या सभी नियम कायदे कानून केवल आम जनता के लिए है? नियमो की धज्जियां उड़ाकर पीसीसी चीफ मोहन मरकडे और जिला कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा जिले की जनता को क्या संदेश देना चाहते हैं? हम प्रतिबंधात्मक आदेशों की अवहेलना के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों पर प्रकरण से कड़ी कार्रवाई करने की मांग करते हैं।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: