Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

इस बार रंग नहीं जोड़ पाते हैं, घर में होली मनाते हैं: मृप, छग, प्रतिगमन और महाराष्ट्र में सख्ती से वृद्धि हुई; शिवराज बोले- सिर्फ संडे लॉकडाउन, गहलोत ने कहा- लॉकडाउन से रोजगार बंद हो जाता है

  • हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • एमपी
  • होलिका दहन और होली पर मुख्यमंत्रियों की अपील होलिका दहन और होली पर महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कई अन्य राज्यों सहित

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मध्यप्रदेश10 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम रोज कोरोना को लेकर सतर्कता कर रहे हैं। जहां तक ​​को विभाजित केंद्र खोले जाने की बात है, तो प्रदेश में को विभाजित केंद्र नहीं खोले जाएंगे।

  • सीजी सीएम बघेल की अपील- सुरक्षित रहेंगे तो अगली होली खेल जाएगी

आज होलिका दहन और कल होली है। उधर, देश में कोरोना के नए मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, बिहार सहित अन्य कई राज्यों में होलिका दहन और होली को लेकर गाइडलाइन जारी की गई है। कई मुख्य कार्यकर्ताओं ने भीड़ में होली न मनाने की अपील की है। एहतियातन कई राज्यों में जहां कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, वहां धारा 144 भी लगाई गई है।

सीएम शिवराज ने कहा- सभी लोगों को कोरोना की गाइड लाइन का पालन करना होगा
सीएम शिवराज सिंह ने लॉकडाउन और कोरोना को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि सिर्फ संडे का लॉकडाउन है। कोरोना की रोज समीक्षा कर रहे हैं। सभी तरह की आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित नहीं किया जाना चाहिए। वह नियमित रूप से रहना चाहिए, लेकिन सभी को कोरोना की गाइड लाइन का पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि हम रोज कोरोना को लेकर सतर्कता कर रहे हैं। जहां तक ​​को विभाजित केंद्र खोले जाने की बात है, तो प्रदेश में को विभाजित केंद्र नहीं खोले जाएंगे। ट्रकों को बेहतर किया जाएगा। अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड बना रहे हैं, ताकि रोगी को सभी सुविधा एक ही जगह मिल जाए। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

सीएम वेल्लोत बोले- लॉकडाउन से सबका रोजगार बंद हो जाता है, सख्ती करेंगे
कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने एक बार फिर सख्ती की चेतावनी दी है, लेकिन प्रदेश में लॉकडाउन लगाने से साफ इनकार कर दिया है। गहलोत ने कहा कि कोरोना को लेकर सार्वजनिक लापरवाह हो गया है, इसलिए कुछ सख्त कदम उठाए गए हैं। अगर और सख्ती से पड़ती है तो हम करेंगे। लोग नहीं चाहते कि लॉकडाउन लगे। लॉकडाउनिंग बहुत ही खतरनाक है। सबका रोजगार बंद हो जाता है। बिना लॉकडाउन ने हमें सख्ती करनी चाहिए। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

मुख्यमंत्री बघेल बोले- जान है तो जहान है, सुरक्षित रहेंगे तो अगली होली खेल जाएगी
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि होली हमारा बड़ा त्योहार है, लेकिन कोरोना कल में सुरक्षा के साथ परिवार के लोगों को तिलक लगाकर होली मनाते हैं। कोरोना बहुत ज्यादा फैल रहा है, जान है तो जहान है, हम सुरक्षित रहेंगे तो अगले होली खेल लेंगे। मैंने पिछली बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्य सचिव को सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। दुर्ग रायपुर और बेमेतरा में अस्थिरों की स्थिति चिंताजनक है लेकिन प्रशासन की समीक्षा है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

सीएम उद्धव ठाकरे ने नाइट कर्फ्यू का किया एलान, बिना वर्क घूमने पर 500 और थूकने पर 1000 रु। ठीक है
महाराष्ट्र में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत बिना मुखौटे के बाहर घूमने वालों पर तुमसे 200 से बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया गया है। इसके साथ ही रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक पूरे राज्य में नाइट कर्फ्यू रहेगा। शनिवार से ही लागू होने वाले कर्फ्यू के दौरान बाहर निकलने पर सख्त मनाही रहेगी। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को ही नाइट कर्फ्यू का ऐलान कर दिया था, लेकिन इसकी गाइडलाइन शनिवार को जारी हुई। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

सीएम नीतीश कुमार की अपील- कोरोना के नेतृत्व में इस बार घरों में केवल जश्न मनाए जाते हैं
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोगों को होली की जीत व शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि होली, सामाजिक समरसता का प्रतीक है। होली का यह पवित्र त्योहार लोगों की जिंदगी में खुशियों का नया रंग लेकर आएगा। यह त्योहार मनाने पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। इसकी सबसे बड़ी विशेषता यह है कि बिना किसी भेदभाव के लोग एक-दूसरे के प्रति प्रेम और कर्मभाव का व्यवहार रखते हैं; आपस में मिलकर खुशियां बांटते हैं। कहा-‘कोरना के संक्रमण को देखते हुए सभी लोग घर के अंदर ही होली का त्योहार मनाते हैं। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

झारखंड: राजधानी रांची में निषेधाज्ञा लागू, 30 अप्रैल तक भीड़ लगाने और सभी धार्मिक-सार्वजनिक कार्यक्रम पर रोक
कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला प्रशासन पूरी तरह से समीक्षा मोड पर आ गया है। आपदा प्रबंधन विभाग के निर्देश के बाद जिला प्रशासन ने कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों पर सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। लोग घर से बाहर झुंड बनाकर होली ना खेले, कहीं भीड़ ना लगे। इसलिए सदर एसडीओ समीरा एस ने पूरे सदर अनुमंडल क्षेत्र में धारा 144 का प्रयोग करते हुए प्रतिबंधाज्ञ लगा दिया है। पहले 29 मार्च तक निषेधाज्ञा लागू की गई थी। अब इसे बढ़ाकर 30 मार्च कर दिया गया है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: