Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

अधिक सख्ती की तैयारी: छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री ने बुलाई कलाकारों-अफसरों की बैठक की, इससे पहले संसदीय सचिव ने किया तालाबंदी का अनुरोध

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर10 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

मुख्यमंत्री निवास में शाम 5.20 बजे से शुरू हुई बैठक में स्वास्थ्य, सुरक्षा और वैक्सीनेशन सहित कई मुद्दों पर चर्चा हो रही है। बताया जा रहा है कि अधिक संक्रमण वाले जिलों में सरकार लॉकडाउन या नाइट कर्फ्यू जैसा कोई निर्णय ले सकती है।

  • मुख्यमंत्री निवास में बैठक शुरू वीसी से कलेक्टर और मार्कर भी जुड़े
  • कोरोना के बढ़ते संक्रमण से धारा 144 से प्रतिबंधों पर विचार किया जा रहा है

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की बढ़ती अवस्था को थामने के लिए अधिक सख्ती की तैयारी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की बैठक में मंत्रियों और अफसरों की एक उच्च स्तरीय बैठक CM हाउस में चल रही है। अधिक जिलों के कलेक्टर और व्यापारिक संगठनों के प्रतिनिधि भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जुड़ रहे हैं। इस बैठक का फैसला आने से पहले कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और सरकार में संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने लॉकडाउन लगाने का अनुरोध किया है।

विकास उपाध्याय ने कहा, छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन लगाए जाने जैसे कठोर निर्णय पर प्रमुखता से विचार करने की जरूरत है। बगैर लॉकडाउन के लोगों को रोका नहीं जा सकता है। हम इतने भी कड़ाई से नियमों का पालन करने और सावधानी बरतने की अपील करें व्यावहारिक जीवन में ये नहीं हो सकते हैं। विकास उपाध्याय ने कहा, हमें पुराने अनुभवों से सीख लेनी चाहिए और पुरस्कारों को लेकर सुपरस्प्रेडर बनने से बचना चाहिए पर ये सब हो नहीं रहा है।विकास उपाध्याय ने कहा, अक्सर देखा गया है कि जितने भी बड़े समारोह, त्योहार और सभाएं होती हैं उसके साथ बाद को विभाजित के मामलों में वृद्धि दिखती है।

कोरोनावायरस के नए वैरिएंट्स भी सामने आ रहे हैं। हाल ही में डबल म्यूटेट वायरस भी मिला है। ये नए वैरिएंट्स ज्यादा संक्रामक हैं। होली में लोग मिलते-जुलते हैं, इकट्ठा होते हैं और खाना-पीना होता है। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग और पूछे जाने वाले प्रश्न जैसे नियमों का पालन नहीं हो पाता। इन वजहों से कोरोना संक्रमण की वृद्धि बढ़ सकती है। विकास उपाध्याय ने कहा, छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन लगाकर टीकाकरण अभियान को तेज किया जाना चाहिए। साथ ही संकाय व सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों के पालन पर भी जोर दिया जाना चाहिए।

यह बहुत खतरनाक दौर है

विधायक विकास उपाध्याय ने कहा, कोरोनावायरस की पहली लहर में 50 हज़ार के आंकड़े छूते-छूते चार से पांच महीने लग गए थे। लेकिन यह दूसरी लहर अधिक खतरनाक दिख रही है। इसने एक महीने के अंदर भारत में मरीजों की संख्या 9 हजार से 50 हजार पर पहुंच गई है।

अभी प्रदेश में यह स्थिति है

मार्च के दूसरे सप्ताह से प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में तेजी दिख रही है। शनिवार को प्रदेश भर में कोरोना संक्रमण के 3 हजार 162 मामले सामने आये। इनको सम्मिलित प्रदेश में सक्रिय रोगियों की संख्या 17 हजार 836 हो गई है। घातक संक्रमण की वजह से बीते 24 घंटे में 11 मरीजों की मौत भी हो चुकी है। अभी यह संख्या रोज के मान से बढ़ती ही जा रही है। दुर्ग, रायपुर, राजनांदगांव, बिलासपुर, सरगुजा, बेमेतरा, महासमुंद जिलों में आक्रामक रोगियों की अधिक संख्या है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: