Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

रायपुर में विंडशिप जोन की लाइव रिपोर्ट: चंगोराभाठा के गणपति नगर के एक हिस्से में पसरा है सन्नाटा, दूसरे हिस्से में बेपरवाह लोग कह रहे हैं- कोनो चिंता के बात नइहे।

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट
  • तीन गलियों की गई बाड़बंदी है, लेकिन प्रशासन-पुलिस का पहरा नहीं
  • प्रतिबंधित क्षेत्र में आवाज़जही की शिकायतें भी मिलीं

रायपुर में सीजन की पहली बाड़बंदी के पहले दिन चंगोराभाठा के गणपति नगर का एक हिस्सा सन्नाटे में डूबा हुआ है। कॉलोनी की तीन गलियों से घिरे 13-14 घरों के इस छोटे से हिस्से को प्रशासन ने संरक्षण जोन बनाकर आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है। यहां 11 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इसकी वजह से प्रशासन प्रभावित है, लेकिन इस बाड़बंदी के ठीक बाहर की आबादी बेफिक्र है।

जोनमेंट जोन की ओर जाने वाली गली के ठीक मुहाने पर एक निर्माणाधीन मकान में दर्जनों मजदूर अपना काम कर रहे हैं। ज्यादातर ने नहीं लगाया है। मोड़ के पास एक दुकान पर 22-24 साल के राहुल मिल जाते हैं। बेफ्रिक हैं, मुख नहीं रखा गया है। पूछने पर कहते हैं घर से ही तो आ रहे हैं। पास में हीशिपमेंट जोन की मौजूदगी पर जवाब भी वही बेफिक्री वाला है। कहते हैं कि “कोनो चिंता के बात नइहे” यानी चिंता की कोई बात नहीं है!

जोनमेंट जोन बनाए गए कॉलोनी के हिस्से को तीन तरफ से बांस-बल्ली से घेर दिया गया है। प्रतिबंधित क्षेत्र का बैनर हवा में फड़फड़ा रहा है। लेकिन, प्रतिबंधों को लागू करने के लिए प्रशासन का कोई नुमाइंदा वहां मौजूद नहीं है। इस विषय पर गली में कोई बात करने को भी तैयार नहीं। एकजन ने बताया, प्रशासन के कुछ लोग दोपहर से थोड़ा पहले आये थे। थोड़ी देर रुककर चली गई। उस व्यक्ति ने बताया कि इक्का-दुक्का लोग बांस-बल्ली को पार कर आते-जाते कर रहे हैं, ऐसा सुनने में आया है। हालांकि उन्होंने कल से किसी को ऐसा नहीं देखा।

गणपति नगरशिखर जोन के ठीक बाहर की इस गली में स्थिति सामान्य दिख रही है।  यहां कई मजदूर काम भी कर रहे हैं।  पिछले साल इस हिस्से को कमिटमेंट जोन बनाया गया था।

गणपति नगरशिखर जोन के ठीक बाहर की इस गली में स्थिति सामान्य दिख रही है। यहां कई मजदूर काम भी कर रहे हैं। पिछले साल इस हिस्से को कमिटमेंट जोन बनाया गया था।

पिछली लहर में दूसरी तरफ का हिस्सा प्रतिबंधित था
बताया गया, कोरोना की पिछली लहर में भी गणपति नगर में अलगाव जोन बनाया गया था। उस समय विद्युतीकरण क्षेत्र की ओर जाने वाली गली को सशक्तीकरण क्षेत्र बनाया गया था। वहाँ एक व्यक्ति को कोरोना हुआ था। तब की कोरोना गाइडलाइन के तहत प्रशासन एक व्यक्ति पर भी पूरे मोहल्ले को प्रतिबंधित कर रहा था।

ऐसी गाइडलाइन है

जोनमेंट जोन घोषित करते समय कलेक्टर ने जो दिशा निर्देश जारी किए थे, उसके मुताबिक ऐसे क्षेत्र में मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर लोगों का घरों से बाहर निकलना प्रतिबंधित रहेगा। मेडिकल इमरजेंसी में भी बाहर निकलने के लिए CMHO से जारी पास जरूरी होगा। आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी हो सकेगी। बेरी समापन के बाहर पुलिस कर्मियों की तैनाती रहेगी ताकि संरक्षण जोन के प्रतिबंधों का उल्लंघन रोका जा सके।

दूसरे मोहल्लों की समीक्षा कर रहा है प्रशासन

एक दिन में दोमुश्त जोन बनाने के बाद रायपुर जिला प्रशासन हालात की समीक्षा कर रहा है। रायपुर कलेक्टर डॉ। एस। भारतीदासन ने गुरुवार को न्यू राजेंद्र नगर और अमलीडीह में भी स्वच्छता जोन बनाने की बात कही थी, लेकिन शुक्रवार शाम तक उसका आदेश जारी नहीं हो पाया। वर्तमान में सबसे बड़े क्षेत्र जोन अविनाश प्राइड में कांटे ट्रेसिंग का काम भी चल रहा है।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: