Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

कोरोना रीलेंड 31 को खत्म: नई गाइडलाइन के हिसाब से होगा तक्षन, जीएसटी ऑडिट नहीं तो 31 के बाद पेनल्टी, जुर्माना-जेल काone भी।

विज्ञापन से परेशान हैं? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर6 घंटे पहलेलेखक: असगर खान

  • कॉपी लिस्ट

प्रतीकात्मक फोटो।

पिछले साल लॉकडाउन और कोरोना काल की वजह से शिशु, जीएसटी और वैट टैक्स में कई तरह की राहतें दी गई थीं। इस तरह की सभी राहतें अब हर हाल में 31 मार्च को खत्म हो रही हैं। केंद्र और राज्य सरकार की ओर से दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। जरूरी काम तय तारीख तक नहीं किए गए तो कारोबारियों के साथ ही आम लोगों को भी बड़ी पेनल्टी लगेगी।

सीए एसोसिएशन के अनुसार टैक्स से संबंधित जरूरी काम हर हाल में इस महीने के आखिरी तारीख में कर लेना जरूरी है। ऐसा नहीं किया गया तो बड़ी पेनल्टी के साथ ही जेल भी हो सकती है। लगातार कई बार की राहत देने के बाद अब आधार कार्ड को पैन कार्ड से कनेक्शन करने के लिए आखिरी बार 31 मार्च तक का दिया गया है।

इस तारीख तक भी दोनों कार्ड नंबर नहीं किए गए तो पैन कार्ड रद्द कर दिया जाएगा। इसके साथ ही 10 हजार रुपए की पेनाल्टी भी लग सकती है। यही कारण है कि अभी भी शहर के सीए के पास लोगों की भीड़ बढ़ रही है। इंकम टैक्स का काम हो या जीएसटी का आम लोगों के साथ ही व्यवसाय भी सीए दफ्तरों में देर रात तक दिखाई दे रहे हैं।) सीए का कहना है कि केंद्र सरकार ने जिस चेतावनी के साथ दिशा-निर्देश जारी किए हैं उसके अनुसार अब अंतिम तिथि में कोई राहत नहीं दी गई है।

फाइनेंशिल इयर एंडर गाइड: 31 मार्च तक क्या-क्या करना जरूरी है … नहीं तो समस्या कैसे करें?

वैट: एन दृश्य रिटर्न फाइल नहीं तो 10 हजार भालू

  • वित्तीय वर्ष 2017-18 के पहले क्वार्टर यानी अप्रैल से जून 2017 तक का वैट एनुअल रिटर्न फाइल करना है। ऐसा नहीं किया गया।
  • 1 जुलाई 2017 से जीएसटी लागू होने से पहले यानी अप्रैल 2017 से जून 2017 तक किसी व्यवसाय का टर्नओवर 2.50 करोड़ से ज्यादा है तो वैट ऑडिट कराकर उसे जमा करना अनिवार्य है। ऐसा नहीं किया गया तो 10000 की पेनाल्टी तय की गई।

इंकमटैक्स: रिटर्न और टैक्स जमा करने के लिए अतिरिक्त समय समाप्त हो गया

  • पैन कार्ड को आधार कार्ड से शामिल करने अनिवार्य है। ऐसा नहीं किया गया तो 10 हजार पेनल्टी लग सकती है। पैन नंबर भी इनवैलिड हो जाएगा।
  • वित्तीय वर्ष 2019-20 का शिशु ऋण लेट फीस के साथ 31 मार्च तक जमा करना होगा।
  • नहीं किया तो शिशु क्लिक जमा नहीं हो पाएगा।
  • किसी का दैनिक टैक्स 5000 से ज्यादा है और अभी तक फाइल फाइल नहीं की गई है तो ऐसे लोगों को जुर्माने के साथ जेल की सजा हो सकती है।
  • वित्तीय वर्ष 2021-22 के क्वार्टर -1 और क्वार्टर 2 का टीडीएस 31 मार्च तक फाइल करना है। नहीं तो 200 रु। हर दिन लेट फीस लगेगी।
  • विवाद से विश्वास योजना का फायदा उठाने के आवेदन की अंतिम तिथि 31 मार्च तक ही है। इसके बाद पुराने टैक्स वाले मामलों में परेशानी बढ़ेगी।
  • टैक्स निर्धारण 2021-22 के लिए एडवांस टैक्स तुरंत भुगतान करें, नहीं तो 1 अप्रैल 2021 से जमा जमा करने की तारीख तक ब्याज देना होगा।

जीएसटी: ऑडिट नहीं तो 31 मार्च के बाद पेनल्टी

  • वित्तीय वर्ष 2019-20 का जीएसटी वार्षिक रिटर्न फॉर्म -9 में जमा करना है। ऐसा नहीं किया गया तो 200 रुपए प्रतिदिन की लेट फीस का प्रावधान किया गया है।
  • वित्तीय वर्ष 2019-20 का टर्नओवर 5 करोड़ या उससे अधिक है तो जीएसटी ऑडिटिंग अनिवार्य है। 25 हजार रु। । पेनल्टी लगेगी
  • वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए जीएसटी कंपोजिशन स्कीम का फायदा उठाना चाहते हैं तो 31 मार्च तक की इस स्कीम का लाभ लेना होगा।

(जैसा कि रायपुर सीए एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष चेतन तरवानी, शशिकांत चंद्राकर, साक्षीगोपाल अग्रवाल और अन्य पदाधिकारियों ने बताया)

(*31*)खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: