Harshit India news

breaking news | Bhopal local news | Madhya Pradesh news | Indore news

वापस लौटा संकट: छत्तीसगढ़ में 18 मार्च 2020 को मिला था कोरोना का पहला मरीज, एक साल बाद उसी दिन अकेले रायपुर में 330 रोगियों को मिला

विज्ञापन से परेशान है? बिना विज्ञापन खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर13 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

एक साल पहले जब रायपुर में संक्रमण बढ़ रहा था, तो प्रशासन ने उन इलाकों की बाड़बंदी की सफाई व्यवस्था जोन बना दी थी, जहां कोरोना के भंडारण में कमी आई थी। अक्टूबर 2020 के बाद यह नियम खत्म कर दिया गया। अब फिर से अधिक मरीजाें वाले क्षेत्रों में मत्स्यन जोन बनाने को कहा गया है।

  • प्रदेश में नए रोगियों की संख्या 1066 हुई
  • अब प्रदेश में कोरोना के 6025 सक्रिय मामले

छत्तीसगढ़ में कोरोनासिस के एक साल पूरे हो गए हैं। ये एक साल में यह संकट भयावह हो गया है। छत्तीसगढ़ में 18 मार्च 2020 को कोरोना का पहला मरीज मिला था। यह लंदन से रायपुर लौटी एक युवती थी। उन्होंने खुद आगे बढ़कर जांच की थी और कोरोना संक्रमण का पता चला था। उसके ठीक एक साल बाद गुरुवार को अकेले रायपुर में 310 नए रोगी मिले।

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण का यह दूसरा दौर है। गुरुवार को छत्तीसगढ़ में कोरोना के 40 हजार 283 टेस्ट में। वहाँ इस एक दिन में 1066 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। वहीं 4 लोगों की मौत भी दर्ज हुई है। इनको मिलाकर प्रदेश में अब तक संक्रमण की चपेट में आ चुके लोगों की संख्या 3 लाख 20 हजार 783 हो गई है। अब तक कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या भी 3920 हो गई है। डॉक्टरों का कहना है कि अभी यह आंकड़ा कम होता नहीं दिख रहा है। गुरुवार को मिले मरीजों को मिलाकर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामले 6025 हो गए हैं।

अलग-अलग जिलों की बात करें तो रायपुर और दुर्ग जिले की स्थिति सबसे खतरनाक दिख रही है। गुरुवार को रायपुर में 310 नए मरीज मिले और दो मरीजों की मौत हुई। नए मरीजों की वजह से रायपुर जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या 1787 हो गई है। रायपुर में अब तक 58 हजार 247 लोग इस संक्रमण की चपेट में आये हैं। वहीं इस महामारी में 824 मरीजों की जान ली गई है। दुर्ग जिले में 281 नए मरीज मिले हैं। एक व्यक्ति की मौत हुई है। सक्रिय रोगियों की संख्या 1702 हो गई है। दुर्ग जिले में अब तक 29 हजार 773 लोग निवास कर चुके हैं। इनमें से 661 लोगों की मौत हो चुकी है।

शहरी जिले

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की यह दूसरी लहर शहरी जिलों में तेजी दिखा रही है। रायपुर और दुर्ग-भिलाई के बाद बिलासपुर संक्रमण से सर्वाधिक प्रभावित जिला दिख रहा है। यहां गुरुवार को 77 नए मरीज मिले। सरगुजा जिले में 60 और राजनांदगांव जिले में 59 नए रोगियों का पता चला है। जिम, धमतरी, जांजगीर-चांपा, सूरजपुर में भी संक्रमण बढ़ा हुआ नजर आया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, काम एक साल का अनुभव होगा

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, इस एक साल में हमने बहुत से मौके खोये हैं। त्यौहारों में, सामाजिक कार्यक्रमों में, जीने में-मरने में शरीक नहीं हो सकते। स्कूल-कॉलेजों की पढ़ाई प्रभावित हुई, इम्तिहानों पर विपरीत प्रभाव पड़ा। कठिन परिस्थितियों में काम। दैनिक कार्यों में भी कठिनाई हुई। ये सबके बावजूद छत्तीसगढ़ के लोग इस बीमारी के खिलाफ एकजुट होकर खड़े हो रहे हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, इस एक साल में हमने कोरोना के साथ जीना की सीख हासिल की है। इस एक साल का अनुभव आने वाले समय में हमारे काम आएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, महामारी के नियंत्रण में हम किसी तरह की शिथिलता नहीं बरतेंगे। हम याद रखेंगे कि एक साल पहले संक्रमण के एक मामले से बढ़कर 3 लाख 20 हजार लोग प्रभावित हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, हम काम करेंगे और इस चुनौती का मुकाबला करेंगे।

खबरें और भी हैं …

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: